लाइब्रेरी में जोड़ें

वो पेंटिंग

भाग ३



कुछ दिन ऐसे ही बीते ,,मगर जिया की उस पेंटिंग को
लेकर ललक बढ़ती ही जा रही थी
अब तो वो उस पेंटिंग से जुड़ी कुछ कुछ बाते भी बताने लगी थी जिसको सुन कर उसके दोनों भाई बहन बहुत हस्ते ओर कभी उसका मजाक बनाते कि जिया पागल हो गई है ।
एक दिन रात को अचानक जिया जोर जोर से अम्मा अम्मा चिल्लाने लगती ।
सब  लोग तो डर गए,   दिल्ली जैसे शहर में रहकर कॉन्वेंट स्कूल में पढ़ने वाली एक 7 साल की बच्ची आखिर अम्मा किसको बुला रही है वह भी ऐसे रोते हुए रात में,,,
संजय और तरु की अब चिंता बढ़ गई थी आखिर यह मामला क्या है उन्होंने सुबह जिया से इसके बारे में बात की ।
मेरी अम्मा को वो लोग ले जा रहे थे वरुण उन्हें बचाने गया था उन लोगो ने उसे  मार दिया ।
मुझे अम्मा के पास जाना है मुझे अम्मा के पास जाना है
अब ये नई जिद पकड़ ली थी जिया ने।
संजय के एक मित्र जो दिमाग के डॉक्टर थे उस से मिल कर इस बात की तह तक जाने का निश्चय किया दोनों ने।
डाक्टर विपिन कुमार शहर के जाने माने न्यूरोलॉजिस्ट थे उन्होंने संजय को जिया को लेकर क्लीनिक  ले कर आने के लिए बोला ।
दो दिन का समय तय किया गया जिया को डाक्टर के पास ले जाने के लिए ......

दोनों पति पत्नी के लिए एक चुनौती बनने वाला था.....


@ रेणु सिंह " राधे " ✍️

   13
5 Comments

Chirag chirag

02-Dec-2021 09:10 PM

बहुत खूबसूरत

Reply

Shalini Sharma

23-Sep-2021 12:02 AM

Superb ✌️

Reply

Miss Lipsa

19-Sep-2021 01:08 PM

Aree waah...... awesome part yaar Bohot acha part hai 😇

Reply