कबीर दास जी के दोहे

404 भाग

17 बार पढा गया

1 पसंद किया गया

पर नारी का राचना, ज्यूं लहसून की खान कोने बैठे खाइये, परगट होय निदान।। ...

अध्याय

×