जाड़ा आया-24-Nov-2022

1 भाग

200 बार पढा गया

10 पसंद किया गया

कविता -जाड़ा आया  आया जाड़ा का ऋतु प्यारा बदल गया है मौसम सारा फसल पाकि गय कटि गय धान ढोंइ अनाज लइ जाय किसान पड़य शीत खूब ठरै बयार कबहूं पाला ...

×