लेखनी कहानी -24-Nov-2022 गजल : मासूम चेहरा

1 भाग

191 बार पढा गया

8 पसंद किया गया

गजल  मासूम चेहरे के पीछे कातिलाना अंदाज रखते हैं  बड़े बेरहम हैं हुस्न वाले अदाएं लाजवाब रखते हैं  झीने से परदे के पीछे से चांद सा चेहरा चमकता है  ये बेमिसाल ...

×