मरहठा छंद

270 भाग

207 बार पढा गया

13 पसंद किया गया

मरहठा छन्द मात्रा भार 10/8/11 मन पालन करता  नियम समझता, चेतन बन कर ध्यान | शुभ गायन करता,राह पकड़ता, पाता प्रिय गतिमान | वह पंथ दिखावत,हाथ मिलावत,सबके प्रति सम्मान | बन ...

अध्याय

×