प्यार या क़ुर्बानी

12 भाग

1119 बार पढा गया

46 पसंद किया गया

दोपहर की चिलचिलाती हुई धूप में वो तेज कदमो से चली जा रही थी , शायद वो किसी बात की जल्दी मे थी। उसके चेहरे पर अजीब से भाव थे। कुछ ...

अध्याय

×