मनोरंजन

1 भाग

166 बार पढा गया

14 पसंद किया गया

🌹🌹🌹🌹 ग़ज़ल 🌹🌹🌹🌹 जहालत    'को   मनोरंजन   'फ़ज़ीहत को मनोरंजन। यहाँ   कुछ   लोग    कहते   हैं 'शरारत को मनोरंजन। ख़ुदा  के   वास्ते  भूले  से  भी 'कहना न तुम हरगिज़। मुह़ब्बत    ...

×