लेखनी कहानी -14-May-2022

1 भाग

247 बार पढा गया

17 पसंद किया गया

             मर्यादा मर्यादा की बात ना कर हे पुरुष ।मैने हर एक बात तेरी निभाई है  फिर भी तुझको लज्जा नहीं ये कैसी मेरी रुसवाई है।  ...

×