मिले जो विरासत में मुझको नगीने

1 भाग

15 बार पढा गया

2 पसंद किया गया

मिले जो विरासत में मुझको  नगीने। ना बांटे ही कोई, न ही कोई छीने।। दिए मां ने मुझको अनमोल मोती, हृदय पेटिका रख सदा ही संजोती , सरलता सुघड़ता सजा घर ...

×