लेखनी कहानी -12-Feb-2024

0 भाग

192 बार पढा गया

16 पसंद किया गया

दहेज...... उन्होने मांगी कार पापा ने रूंधे गले से कहा सोच लीजिए एक बार गरीब सा हूं इतना कहा दे पाऊंगा जिगर का टुकड़ा तो दे ही रहा हूं ये देने ...

×