लेखनी प्रतियोगिता -25-May-2023 उल्लाला–उल्लाल

1 भाग

272 बार पढा गया

7 पसंद किया गया

उल्लाला और उल्लाल छंद नित्य प्रशंसा कीजिए, नाम राम का लीजिए। राम ज्योति हिय में जले, दुःख सकल पल में टले।। राघव भू आधार हैं, जग के तारणहार हैं। इनको हृदय ...

×